April 13, 2021

सच्ची दोस्ती। true friendship stories in hindi

सच्ची दोस्ती। true friendship stories in hindi

एक बार गट्टू और चिंकी अपने गार्डन में खेल रहे थे।

चिंकी और गट्टू दोनों पांच साल के है। उन्हें सही गलत के बारे में पता नहीं।

तभी उन्हें एक कुत्ते के भौंकने की आवाज सुनाई दी। पहले तो उन्हें उस पर ध्यान नहीं दिया लेकिन जब कुत्ते ने भोकना बंद नहीं किया तो चिंकी गेट के पास देखने गई।

चीन की उस कुत्ते से पूछती ” क्यों भौक रहे हो ? “

पर कुत्ता भौंकने बंद नहीं करता। इस बात पर गट्टू कहता ” लगता है यह ऐसे नहीं मानेगा इसे तो मैं बताता हूं “

गट्टू पत्थर उठाकर कुत्ते को मारने ही वाला होता है कि चिंकी गट्टू से कहती ” रुको गट्टू इस तरह किसी भी बेजुबा को मारना गलत बात है चलो इसे अंदर लेकर चलते हैं। “

चिंकी प्यार से उसे घर के अंदर लेकर गई उसका जख्म साफ किया उसकी मरहम पट्टी की पानी पिलाया और बहुत प्यार किया।

आप चिंकी उस कुत्ते के बच्चे को अपने साथ रखना चाहती थी। चिंकी का आधा ध्यान तो सिर्फ उस कुत्ते का ख्याल रखने में चला जाता।

इस बात से गट्टू नाराज हो जाता है। गट्टू को उस कुत्ते से जलन होने लगती है और वो उस कुत्ते को अपने घर से भगाना चाहता था।

नटखट बिट्टू को यही बात अच्छी नहीं लगी भला कैसे गंदा जानवर को कोई कैसे इतना प्यार कर सकता है। बस यही ख्याल गट्टू के मन में चल रहा था।

चिंकी ने उस कुत्ते का नाम मोती रख दिया था। चिंकी को वह मोदी से इतना प्यार करते देख गट्टू का जलन के मारे बुरा हाल हो गया लेकिन नटखट गट्टू कहा रुकने वाला था।

मोती घर से भाग जाए इसके लिए गट्टू शैतानी तरीके अपनाने लगा। जब जब गट्टू मोती को तंग करने की सोचता है तब तब चिंकी आकर उसे बचा देती।

एक दिन गट्टू मोती को बाहर बांधा देख। गट्टू को एक तरकीब सुझती।

गट्टू मोती को अपने साथ घुमाने ले जाता है पर अकेले ही लौट कर आता है।

कुछ देर बाद चिंकी मोती को ढूंढने लगती है पर मोती कहीं नहीं मिलता चिंकी का रो रो कर बुरा हाल हो जाता है। गट्टू को चिंकी के लिए दुखी तो बहुत था लेकिन वह खुश था कि अब मोती चला गया था।

उसी रात घर में एक चोर घुस आता है और जोर जोर से चिल्लाने लगता है ” बचाओ बचाओ यह मुझे काट लेगा बचाओ “

घर से सारे सदस्य जाग जाते है और जब बाहर आ कर देखते है तो मोती उस चोर को दौड़ा रहा था।

पहले गट्टू को लगा कि वो किसी राह चलते आदमी को दौड़ा रहा है जो गलती से उनके घर घुस गया। अचानक उसकी नजर उसकी साइकिल पर पड़ी जो गेट के पास गिरी पड़ी थी।

सारे घर के लोगों ने उस चोर को पकड़ कर उसे पुलिस के हवाले किया। अब गट्टू को अपनी गलती का एहसास हुआ।

गट्टू ने मोती के साथ बहुत शैतानी की थी पर फिर भी उसने गट्टू की साइकिल को चोरी होने से बचा लिया। उस दिन से गट्टू और मोती में अच्छी दोस्ती हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *