April 13, 2021

मिठाई वाला। Short Moral Story in Hindi

मिठाई वाला। Short Moral Story in Hindi

एक गांव में ढोलू नाम का मिठाई वाला रहता था उसकी बहुत बड़ी मिठाई की दुकान थी।

उसकी मिठाई पूरे गांव में मशहूर थी।

मिठाईवाला:- साैकार आप आइए कौन सी मिठाई देना पसंद करेंगे।

एक दिन गांव के साहूकार के बेटे की शादी थी इसलिए वह साहूकार ढोलू की दुकान में आता है।

साहूकार:- मेरे बेटे की शादी है मुझे 50 किलो मिठाई चाहिए

मिठाईवाला:- जी साहूकार, आप को आप की मिठाइयों वक्त पर मिल जाएगी।

ढोलू बाजार से सब सामान मंगा लेता है और रात होते ही अपने काम में लग जाता है।

मिठाई की खुशबू से थोड़ी देर में मक्खियां आती है और मिठाई खाने लगती है।

मक्खियों को मिठाई खाता देख मिठाईवाला मक्खियों को भगाने की पूरी कोशिश करता है।

मक्खियां वहां से भाग जाती है लेकिन कुछ देर बाद फिर वापस आ जाती।

मक्खियों को वापस आते मिठाई खाते देख वह बोलता है ” हे भगवान यह मक्खियां वापिस आते थे हुकुम है अभी मजा चखाता हूं। “

मिठाईवाला, मक्खियां को बार बार भागता था। पर मक्खियां वहां से उड़कर दोबारा मिठाई पर आकर बैठ जाती है।

ये देख मिठाई वाले की पत्नी बोलती है ” अरे सुनो बेचारी मक्खियां बहुत भूखी होगी हमें उनकी मदद करनी चाहिए खाने दो उन्हें थोड़ी मिठाई। “

जब मिठाई वाला और उसकी पत्नी मक्खियों को मिठाई खाने दे रहे होते हैं तब खिड़की से गांव का एक सदस्य उन्हें देख लेता है।

दूसरे दिन साहूकार के कुछ आदमी आते हैं और वह मिठाई ले जातो है।

अगले दिन ढोलू और उसकी पत्नी घर पर आराम कर रहे होते हैं तभी अचानक गांव के सारे लोग आकर ढोलू को उसके घर से बाहर निकलने को कहते है

साहूकार आग बबूला हो जाता है क्योंकि ढोलू की मिठाई खाने के बाद गांव के लोग बीमार पड़ गए थे।

साहूकार गुस्से से मिठाई वाले से कहते ” आज तुम्हारी वजह से पूरा गांव बीमार हो गया। “

पर ढोलू यह सब मानने से इनकार करता और कहता ” मैंने कुछ भी नहीं किया। “

तभी गांव का सदस्य कैसा है ” मैंने अपनी आंखों से मक्खियों को मिठाई खाते हुए देखा है।”

गांव के सारे लोग और साहूकार गुस्सा हो जाते हैं और ढोलू को पीटने लगते है।

ढोलू को मार खाता देख उसकी पत्नी मन ही मन सोचती है ” हे भगवान यह क्या हो गया हम तो मक्खियों की मदद कर रहे थे। “

सीख:- हमें कुछ भी करने से पहले उसके अंजाम के बारे में सोचना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *