पद्मावत की कहानी। Padmavat in Hindi

बचपन का समय बहुत ही मह्त्वपूर्ण मना जाता है। हमारे माता पिता हमें राजा और रानियां के कारनामे सुनाया करते थे और हमें भी उनकी तरह बनने को कहा करते। हमने कई राजा, रानियां की कहानी सुनी होगी पर रानी पद्मावती की कहानी बेहद अलग …

Read moreपद्मावत की कहानी। Padmavat in Hindi

गरीब की दुआ। Garib ki Duaa। Short Moral Story in Hindi

सारंगपुर नाम का एक गांव में एक लड़का रहता था उसका नाम कुमार था। सारंगपुर में रहने वाला कुमार अब कॉलेज जाने लगा। कुमार पढ़ाई-लिखाई में आज था, लेकिन उसकी एक बुरी आदत थी उसकी वजह से उसके माता, पिता चिंतित रहते थे और वह …

Read moreगरीब की दुआ। Garib ki Duaa। Short Moral Story in Hindi

सच्ची दोस्ती। Sacchi Dosti। Friendship Story in Hindi

एक बार गट्टू और चिंकी अपने गार्डन में खेल रहे थे। चिंकी और गट्टू दोनों पांच साल के है। उन्हें सही गलत के बारे में पता नहीं। तभी उन्हें एक कुत्ते के भौंकने की आवाज सुनाई दी। पहले तो उन्हें उस पर ध्यान नहीं दिया …

Read moreसच्ची दोस्ती। Sacchi Dosti। Friendship Story in Hindi

वफादार दोस्त। Vafadar Dost। Friendship Story in Hindi

पुराने वक्त की बात है एक गांव में एक सेठ रहा करता था। उसके पास कोई भी नौकर ज्यादा देर तक नहीं रुक पाते था। उसकी बड़ी वजह यह थी कि उसके पास कोई भी आता तो सेठ उसे काम देने से पहले तीन शर्ते …

Read moreवफादार दोस्त। Vafadar Dost। Friendship Story in Hindi

सच्चे दोस्त। Sacche Dost। Friendship Story in Hindi

कई साल पहले एक जंगल में एक खरगोश रहा करता था। वह हर रोज जंगल में शैतानी करता खेलता, कूदता, घूमता रहता। पर बेचारे की तबीयत एक दिन बहुत बिगड़ जाती है। उसकी बीमारी के बारे में एक से दूसरे दूसरे से तीसरा कर सारे …

Read moreसच्चे दोस्त। Sacche Dost। Friendship Story in Hindi

राजा और मूर्ख बंदर। Raja aur Murkh Bandr। Panchtantra Story in Hindi

एक बार एक राजा था वह शिकार के लिए गया, उसे एक बंदर मिला जो पेड़ पर बैठा था और पेड़ से फल तोड़कर राजा को दे रहा था। राजा को उसकी यह बात पसंद आई और वह उस बंदर को महल लेकर गया। अब …

Read moreराजा और मूर्ख बंदर। Raja aur Murkh Bandr। Panchtantra Story in Hindi

मां ब्रह्मचारिणी की आरती। Maa Brahmacharini ki Aarti। Devotional

जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता। जय चतुरानन प्रिय सुख दाता। ब्रह्मा जी के मन भाती हो। ज्ञान सभी को सिखलाती हो। ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा। जिसको जपे सकल संसारा। जय गायत्री वेद की माता। जो मन निस दिन तुम्हें ध्याता। कमी कोई रहने न पाए। …

Read moreमां ब्रह्मचारिणी की आरती। Maa Brahmacharini ki Aarti। Devotional